Still be able to work abroad ITI to youth

Still be able to work abroad ITI to youth
विदेश में नौकरी के लिए आईआईटी प्रशिक्षुओं का कैंपस इंटरव्यू से ही चयन होगा। आईटीआई में विदेशी कंपनियां इंटरनेशनल इंटरव्यू के माध्यम से प्रशिक्षुओं को नौकरी देंगी। इसकी शुरुआत मंडी आईटीआई से मंगलवार को हुई। पहली बार इंटरनेशनल कैंपस इंटरव्यू हुआ। अबुधाबी से जिंदाल शॉ एलएलसी कंपनी ने फिटर, वेल्डर, मशीनिस्ट और इलैक्ट्रीशियन ट्रेड के अभ्यर्थियों को परखा।
फिटर के 48, वेल्डर 46, इलैक्ट्रीशियन 21 और मशीनिस्ट  के 7 उम्मीदवारों ने लिखित परीक्षा दी। इनका रिजल्ट बुधवार को निकलेगा। इसमें प्रदेश भर के चार ट्रेडों में पास आउट 120 प्रशिक्षुओं ने भाग लिया। लिखित परीक्षा के दौरान कैंपस प्लेसमेंट के लिए जिंदल सॉ एलएलसी कंपनी अबुधाबी से आनंद श्रीवास्तव जनरल मैनेजर, के श्रीनिवासन सीनियर मैनेजर, इलेक्ट्रिकल तथा अभय तोमर एचआर मैनेजर मौजूद रहे।
आईटीआई डिप्लोमा के साथ विद्यार्थियों के पासपोर्ट भी अनिवार्य हैं। इस दौरान आईटीआई स्टाफ में रूपलाल, प्रवीण कुमार, रक्षा देवी, महेंद्र पाल, दर्शन सिंह, रमेश कुमार, संजीव कुमार, प्रेम सिंह, खेम सिंह और सेवानिवृत्त दिनेश कुमार भी मौजूद रहे। यह कंपनियां करीब दो दर्जन पदों को भरेंगी।
पगार के साथ कई सुविधाएं: प्रधानाचार्य


आईटीआई के प्रधानाचार्य (सीनियर स्केल) इंजीनियर शिवेंद्र डोगरा ने बताया कि कंपनी सैलरी के साथ रहने की सुविधा देगी। तीनों समय खाने की व्यवस्था और भारत से अबुधाबी जाने के लिए हवाई टिकट का खर्च देगी। साथ वीजा तथा मेडिकल का सारा खर्च कंपनी वहन करेगी। कंपनी का अबुधाबी में पानी के बड़े-बड़े पाइप बनाने का कार्य है।  
आज भी होगा कैंपस इंटरव्यू 
संस्थान के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट अधिकारी लता देवी ने बताया कि कंपनी 19 दिसंबर को भी कैंपस इंटरव्यू लेगी। बुुधवार को ऑटोमोबाइल, मेकेनिक मोटर व्हीकल, डीजल मेकेनिक ट्रेड के युवाओं के कैंपस इंटरव्यू होंगे। अन्य आईटीआई में भी अंतरराष्ट्रीय कंपनियां इंटरव्यू युवाओं का चयन करेंगी।

Subscribe to receive free email updates:

0 Response to "Still be able to work abroad ITI to youth"

Post a Comment

if you have any doubts, please let me know